यूएई ने कोरोना वायरस की टेस्टिंग के मामले में एक विश्व रिकॉर्ड कायम कर दिया है. यूएई पहला ऐसा देश बन गया है जिसने अपनी आबादी से ज्यादा कोविड-19 टेस्ट किए हैं. यूएई ने कोरोना महामारी की शुरुआत से लेकर अब तक 1 करोड़ से ज्यादा टेस्ट किए हैं जबकि यूएई की कुल आबादी 96 लाख ही है.हालांकि, सबसे ज्यादा कोरोना टेस्ट के मामले में चीन (16 करोड़ टेस्ट) शीर्ष पर है. अमेरिका ने 7 अक्टूबर तक 11 करोड़ कोविड टेस्ट किए हैं. अमेरिका के बाद भारत 8 करोड़ टेस्ट के साथ तीसरे स्थान पर है. चौथे स्थान पर रूस है जिसने कुल 5 करोड़ टेस्ट किए हैं.
यूएई सरकार के आधिकारिक प्रवक्ता डॉ. उमर अल हम्मादी ने खलीज टाइम्स से बताया, देश ने 30 सितंबर से 6 अक्टूबर के बीच 7,20,802 मेडिकल एग्जामिनेशन किए हैं. ये पिछले हफ्ते के मुकाबले 8 फीसदी ज्यादा है. इस अवधि में कोरोना के कुल मामलों में भी 16 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है. वहीं, रिकवरी में भी 23 फीसदी का इजाफा हुआ है. यूएई में कोरोना संक्रमण के कुल मामले एक लाख से ऊपर पहुंच गए हैं.
डॉ. उमर ने बताया, इस हफ्ते में कोरोना से 73 फीसदी ज्यादा मौतें हुई हैं. हालांकि, इसके बावजूद यूएई में सितंबर महीने में कोरोना से मृत्यु दर पूरी दुनिया में सबसे कम है. यूएई में कोरोना वायरस के संक्रमण की चपेट में आने से 436 लोगों की जान गई है.यूएई के अधिकारियों ने कहा कि जिन वॉलंटियर्स ने कोरोना की वैक्सीन ली है, वे संक्रमण से सुरक्षित नहीं हैं. वैक्सीन अभी भी ट्रायल पीरियड में है. इसमें वॉलंटियर्स की पूरी निगरानी की जाएगी और तमाम फैक्चर्स की जांच की जाएगी. अधिकारी ने कहा, सोशल मीडिया पर जो कहा जा रहा है, उसके उलट वैक्सीन की खुराक लेने वाले वॉलंटियर्स को सावधानी बरतनी होगी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here