नई दिल्ली : भारत में कोरोना वायरस से पीड़ितों की संख्या बढ़ती जा रही है। दिल्ली में कोरोना से ग्रसित एक और मरीज की पहचान हुई है। इसका रिजल्ट पॉजिटिव आ गया है। बताया जा रहा है कि यह शख्स थाईलैंड और मलेशिया से वापस लौटा है। अब तक कोरोना वायरस के 31 मामले सामने आ चुके हैं। इसके अलावा जम्मू-कश्मीर के सुंदरबनी में एक संदिग्ध मिला है, जिसे 14 दिन तक घर में रहने की सलाह दी गई है।

दुनिया में कोरोना का कहर अभी कम होता नजर नहीं आ रहा। घातक कोरोना वायरस की चपेट में आने से दुनियाभर में अबतक 3 हजार 500 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि एक लाख चार हजार से ज्यादा लोग संक्रमित हैं। वहीं केरल में पांच नए मामले सामने आने के बाद भारत में कोरोना वायरस के मरीजों की संख्या बढ़कर 39 हो गई है।

इटली ने कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप को रोकने के लिए अपने नवीनतम प्रयास में मिलान सहित अपने धनी उत्तर के व्यापक स्वात में लॉक डाउन की स्थिति कर दी है। इस बीच सऊदी अरब में कोरोना वायरस के नए मामले सामने आ रहे हैं। सऊदी अरब के स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक आज कोरोना वायरस के चार नए मामले सामने आ रहे हैं

भारत-तिब्बत सीमा पुलिस (ITBP) के जवानों द्वारा दिल्ली के छावला में उन बसों को कीटाणुरहित किया जा रहा है, जिस बस में कोरोना वायरस से ग्रसित इटली के नागरिकों ने राजस्थान और आगरा की यात्रा की। जिसमें 14 इटली के और 1 भारतीय (ड्राइवर) को बाद में कोरोना वायरस टेस्ट में पॉजिटिव पाया गया था।

तमिलनाडु की स्वास्थ्य सचिव नीला राजेश: कोरोना वायरस के एक पॉजीटिव व्यक्ति की पहचान हुई है। फिलहाल उसकी निगरानी की जा रही है। हम उसके साथ संपर्क में आए लोगों को ट्रेस कर रहे हैं। इसके अलावा, हम बाहर से आने वाले प्रत्येक व्यक्ति की स्क्रीनिंग कर रहे हैं।

केरल के स्वास्थ्य मंत्री केके शैलजा ने बताया कि कोरोनो वायरस के 5 नए पॉजीटिव मामलों की पुष्टि हुई है। सभी को यहां के आइसोलेशन वार्ड में भर्ती किया गया है। हाल ही में तीन लोग इटली से लौटे थे, जिसके कारण पठानमथिट्टा जिले में दो और लोग वायरस की चपेट में आ गए।

विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के प्रवक्ता तारिक जसारेविक ने बताया कि दुनियाभर में कोरोना वायरस के अबतक एक लाख से अधिक मामले सामने आए हैं। शनिवार को सुबह 6 बजे (स्थानीय समय) तक 101,827 लोगों में संक्रमण की पुष्टि हुई, जबकि 3,484 मरीजों की मौत हुई है।

प्रधानमंत्री ने कोरोना वायरस को लेकर एक हफ्ते के भीतर दूसरी बार तैयारियों की समीक्षा की। उन्होंने संदिग्धों को आइसोलेट करने और मरीजों के इलाज का पुख्ता प्रबंध करने का निर्देश दिया है। उन्होंने निगरानी तंत्र को और अधिक चाक-चौबंद करने का निर्देश देते हुए कहा कि कोरोना का प्रसार रोकने के लिए इससे संक्रमित होने की आशंका वाले हर व्यक्ति की निगरानी होनी चाहिए।

Posted By : Nikita Patel

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here