बिहार में अपना परचम फहराने के बाद अब बीजेपी की नजर पश्चिम बंगाल पर है. बंगाल की सत्ता पर दस साल से मुख्यमंत्री बनी ममता बनर्जी की तृणमूल कांग्रेस को मात देने के लिए बीजेपी अब पूरे जोरों शोरों से जुट गई है. सूबे में 200 से जयादा सीटें जीतने के लक्ष्य के लिए बीजेपी ने एक तरफ अपनी टीम-11 को बंगाल की रणभूमि में उतारा है तो दूसरी तरफ केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह और बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने खुद भी मोर्चा संभाल लिया हैं और अब हर महीने बंगाल दौरा करने की रणनीति बनाई है. ममता बनर्जी के अभेद्य किले को ढहाने के लिए बीजेपी ने बंगाल को 5 क्षेत्रों में बांटा है. बीजेपी ने सूबे को उत्तरी बंगाल, राढ़ बंग नवद्वीप, मेदिनीपुर और कोलकाता में विभाजित किया है. इन पांचों क्षेत्रों के लिए बीजेपी के वरिष्ठ नेता सुनील देवधर, विनोद तावड़े, दुष्यंत गौतम, हरीश द्विवेदी और विनोद सोनकर को प्रभारी बनाया गया है. बीजेपी के ये सभी दिग्गज नेताओं ने अपने-अपने इलाकों की जिम्मेदारी संभाल लिया है. बीजेपी के बंगाल के अलग-अलग इलाके के प्रभारी अपने-अपने क्षेत्रों में रहकर अपने इलाके की विधानसभा सीट का प्रोफाइल तैयार करेंगे. जिसमें उस सीट के जातिगत समीकरणों, प्रभावशाली नेताओं की पहचान, वहां बीजेपी की मौजूदा स्थिति, अगर स्थिति कमजोर है तो उसके कारण. इस तरह से अपने इलाके की छोटी से छोटी जानकारी इकट्ठा कर एक रिपोर्ट तैयार करना बीजेपी के शीर्ष नेतृत्व को सौंपेगे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here