दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने केंद्रीय शिक्षा मंत्री को पत्र ल‍िखकर दिल्ली यूनिवर्सिटी एक्ट में बदलाव की मांग की है. उन्होंने कहा है कि यूनिवर्सिटी एक्ट के सेक्शन 5(2) को खत्म किया जाए.

मुख्यमंत्री का तर्क है कि दिल्ली में कॉलेज के कट ऑफ 99 फीसदी और 100 फीसदी होने की वजह से दिल्ली में छात्रों को परेशानी हो रही है. दिल्ली में 12वीं तक तो काफी स्कूल बना दिए पर उसके बाद पढ़ाई के लिए छात्रों को कॉलेज में दाखिला नहीं मिल पाता.

सीएम अरविंद केजरीवाल ने आज ये भी कहा कि दिल्ली में एडमिशन कट-ऑफ इतने अधिक क्यों हैं? ऐसा इसलिए है क्योंकि दिल्ली में कॉलेजों और विश्वविद्यालयों की भारी कमी है, जबकि छात्रों की संख्या बढ़ रही है. हमें यहां कई और कॉलेजों और विश्वविद्यालयों की आवश्यकता है.

उन्होंने कहा कि दिल्ली में लगभग 2.5 लाख छात्र हर साल 12वीं कक्षा की परीक्षा देते हैं, जिनमें से केवल 1.25 लाख को ही शहर के कॉलेजों में प्रवेश मिलता है. इसलिए दिल्ली में अधिक कॉलेज और विश्वविद्यालय खोलने की आवश्यकता है.

उन्होंने पुराने कानून के बारे में कहा कि ब्रिटिश युग के दौरान बने दिल्ली विश्वविद्यालय अधिनियम में कहा गया है कि नए कॉलेज को दिल्ली विश्वविद्यालय से संबद्ध करने की आवश्यकता है. इसीलिए मैंने शिक्षा मंत्री को पत्र लिखकर संशोधन करने की मांग की है ताकि दिल्ली में नए कॉलेज और विश्वविद्यालय खोले जा सके.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here