उत्तर प्रदेश के बलिया जिले में एसडीएम और सीओ के सामने हुई एक शख्स की हत्या को लेकर बवाल मचा हुआ है. आज भी उस इलाके में तनाव है, जहां कल ताबड़तोड़ गोलियां चलीं. इस मामले का मुख्य आरोपी धीरेंद्र प्रताप सिंह अब तक पुलिस की पकड़ में नहीं आया है. हालांकि कुछ अन्य आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है.
जानकारी के मुताबिक बलिया के डीएम हरिप्रताप शाही ने कहा कि इस मामले में आठ लोग नामजद और 25 अज्ञात लोगों पर मुकदमा दर्ज किया गया था, जिसमें सात लोगों की गिरफ्तारी कर ली गई है. एक-एक आरोपी को गिरफ्तार करने के लिए तीन-तीन टीमें लगाई गई हैं. दबिश दी जा रही है और रिश्तेदारों से पूछताछ की जा रही है.
बलिया के डीएम हरिप्रताप शाही ने कहा कि आरोपियों की गिरफ्तारी को प्रशासन एक चुनौती के रूप में ले रहा है. जो भी नामजद आरोपी हैं, वो जल्द ही गिरफ्तार किए जाएंगे. मुख्य आरोपी धीरेंद्र प्रताप सिंह पर हमारा खास फोकस है. सभी जगह छापेमारी की जा रही है और कोई भी कोताही नहीं बर्दाश्त की जाएगी.गौरतलब है कि बलिया के दुर्जनपुर गांव में बड़े अफसरों की टीम के सामने ही गोलियों की बारिश कर दी गई और एक शख्स को मार डाला गया. जिस जगह पर हंगामा बरपा है, कोटे की दुकान के लिए बैठक चल रही थी. खुद एसडीएम मौजूद थे. सीओ साहब मौजूद थे. तमाम पुलिसवाले भी थे, लेकिन मर्डर हो गया. यहां कई थाने की पुलिस मौजूद थी.
पुलिस की मौजूदगी के बीच दबंगों ने फायरिंग शुरु कर दी. गोलीबारी में जख्मी शख्स को फौरन अस्पताल पहुंचाया गया लेकिन उसकी जान नहीं बचाई जा सकी. गोली मारने वाले आरोपी का नाम धीरेंद्र प्रताप सिंह है जो बलिया के बीजेपी विधायक सुरेंद्र सिंह का करीबी बताया जा रहा है. मृतक के घरवालों का आरोप है कि आरोपी दनादन गोलियां दाग रहे थे, फिर भी पुलिसवाले उसे बचाने में जुटे रहे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here