हैदराबाद में हो रही लगातार बारिश के कारण तबाही मची हुई है. तेलंगाना में भारी बारिश के बाद बाढ़ के हालात बदतर होते जा रहे हैं. सूबे के अलग अलग इलाकों में करीब 50 लोगों की मौत हो गई है. तेलंगाना के रामनाथपुरा में बेहद खराब हैं. शहर की सड़कें पानी में डूबी हैं और सड़क पर समंदर का नजारा है.
हैदराबाद के कई जलमग्न इलाकों में लोग अब भी फंसे हुए हैं. उन्हें सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाने के लिए नाव का सहारा लेना पड़ रहा है. हैदराबाद के उस्मान नगर में पूर्व सांसद विश्वेश्वर रेड्डी खुद नाम लेकर लोगों को रेस्क्यू करते नजर आए. इस इलाके में करीब 500 घर पानी में डूबे हैं.
केंद्रीय गृह राज्य मंत्री जी किशन रेड्डी ने हैदराबाद में बाढ़ प्रभावित इलाकों का दौरा किया और पीड़ितों का हाल जाना. इस बीच तेलंगाना के सीएम ने सूबे में बाढ़ के हालात को लेकर उच्च स्तरीय बैठक की. तेलंगाना सरकार के मुताबिक बाढ़ से राज्य को करीब 5 हजार करोड़ का नुकसान हुआ है. तेलंगाना सरकार ने केंद्र से मदद की मांग की है. तो वहीँ आंध्र प्रदेश में भारी बारिश के बाद नागार्जुन सागर बांध के 18 गेटों को खोलना पड़ा. गेट खोलने के बाद बाढ़ का पानी आसपास के इलाकों में घुस गया जिससे बाढ़ का खतरा मंडरा रहा है. नागार्जुन सागर डैम के गेटों को करीब 10 फीट तक खोला गया है.
पश्चिमी महाराष्ट्र के तीन जिलों में बारिश ने जमकर कोहराम मचाया है. सोलापुर संगली और पुणे में भारी बारिश के बाद बाढ़ से अब तक 27 लोगों की मौत हो चुकी है. करीब 20 हजार लोगों को सुरक्षित स्थानों तक पहुंचाया गया है. पिछले दो दिनों से पश्चिमी महाराष्ट्र में मूसलाधार बारिश हो रही है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here